अजनबी

वो दोनों रोज़ ही एक दूसरे को देखा करते थे। वो दसवी की ट्यूशन से लौटती थी और वो उसी कोचिंग में बारहवीं की क्लास करने आता था। जब उसने उसे पहली बार था तो पता नहीं क्यों उसे वो सारी भीड़ धुंधली सी नज़र लगी सिवाय उसके जो अपनी लाल स्वेटशर्ट में चेहरे पर फैली जुल्फों को समेटती जमीन पे गिरी अपनी किताबें उठा थी। वो उसे देखते ही ऐसे जड़ सा हो गया की उस बुद्धू को ये ख्याल भी नहीं कि वो जा कर उसकी मदद करे। और उस लड़की को भी उन निगाहों का अहसास हो गया था जो उसे अपलक देखे जा रही थी। जाते जाते उसने भी एक सरसरी निगाह उस लड़के पे डाली और बस तभी उन दोनों की निगाहें पहली बार एक दूसरे से टकराई थी।
उस दिन के बाद से वो लड़का जो कभी वक़्त पे नहीं आया था वो अब वक़्त से पहले सिर्फ उसे एक नज़र भर देखने की खातिर आता था। कुछ दिनों में उस लड़की को भी वो दो आँखें कुछ जानी पहचानी सी लगने लगी। और न चाहते हुए भी उसकी निगाहें चुपके से उस अजनबी के चेहरे जम जाया करती थी। इक सरसरी निगाह से शुरू हुआ ये अफ़साना अब जल्दी ही नज़रों की अठखेलियों से होता हुआ चेहरे पर खिली मुस्कान तक पहुँच चुका था। दोनों के ही मन में अब इस सिलसिले को आगे बढ़ाने की चाह घर करने लगी थी। मगर पहल करने की हिम्मत जुटाना ही सबसे बड़ी बात थी। इसी कश्मकश में दिन गुज़रते जा रहे थे और निगाहों के मिलने और चेहरों के खिलने का खेल बा-दस्तूर जारी था। इत्तेफ़ाक से आज फिर किसी से टकरा उसकी किताबें गिर गयी थी, मगर आज वो भागता हुआ उसके पास जा के गिरी किताबें उठाने गया। इतने पास आ के भी दोनों लबों से कुछ कह न पाये मगर आँखों ही आँखों में एक दूसरे को अपना बताने की कोशिश ज़रूर की। जब वो जाने को मुड़ी तो देखा कि किताबों के बीच एक कागज़ में लिपटा एक चॉकलेट था… अब वो अजनबी नहीं रहे।

 

*Used image is taken from Internet.

Advertisements

2 Comments Add yours

  1. Suresh Madhu says:

    मैंने शायद पूरी कहानी नहीं पढ़ पाया हूँ ,पर जितना पढ़ा वह दिल को झकझोर गया ।आपने दिल से लिखी है कहानी।याद में बनी रहेगी ।

    Like

    1. बहुत शुक्रिया 🙂

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s