वार्तालाप 05

1: अरे भाई, तू इधर कैसे? 2: धनतेरस की शॉपिंग करने आया था, इधर पहचान का एक ज्वेलर है। 1: ओहो! खूब सोना खरीदा जा रहा है। एक हम हैं जो बस झाड़ू खरीद के काम चला रहे हैं। 2: हाँ बे तुम हो ही आपिये तो झाड़ू ही खरीदोगे न। 1: चल बे, ऐसी…

वार्तालाप 04

1: अरे भाई! ज़माने बाद मिल रहे हो। कभी हम गरीबों के लिए भी टाइम निकाल लिया करो। 2: क्या बताये भाई, बड़ा कष्ट है ज़िन्दगी में। इतना काम रहता है कि बड़े दिनों से खुद से नहीं मिल पाए तो तुमसे कहाँ से मिलते? 1: बड़के philosopher बन के आये हो बे तुम तो।…

वार्तालाप 03

1: कहाँ था बे इतने दिन? दिखा नहीं। 2: पहले अंदर तो आने दे बे…बस शहर में नहीं था। कल आया, आज सोचा कि देख लूँ ज़िंदा है या नहीं। 1: घंटा! ज़रूर कोई काम होगा तुझको। 2: कतई शक्की हो बे…हाँ वो गेम ऑफ़ थ्रोन्स के इस सीजन का 4th एपिसोड से चाहिए था।…

वार्तालाप 02

1: Hey! आज इधर कैसे? 2: Hi.. बस ऐसे ही। और..क्या चल रहा है आजकल? 1: अरे बस वही बेरोजगारी। तू बता, सुना है तेरे लिए लड़का खोजा जा रहा है। 2: कहाँ से सुनते रहता है ये सब तू? 1: I have ears at right places. 2: घंटा! घर वाले बड़ा प्रेशर दे रहे…

वार्तालाप 01

1: भाई एकेडमी अवार्ड्स देखा? 2: ये कौन सा अवार्ड है? 1: अबे ऑस्कर की बात कर रहा हूँ। 2: तो ऐसा बोल न। नहीं देखा, उसमे साला बहुत racism होता है। 1: हैं! ऐसा कैसे? 2: अबे किसी अफ्रीकन-अमेरिकन एक्टर को nominate नहीं किया, ये गोरे discriminate करते हैं। 1: भाई अब films जो…